Off Page SEO Kya Hai | Off Page SEO Kaise Kare

5/5 - (2 votes)

जय हिंद, स्वागत है आपका हमारे इस छोटे से BLOG के नये article पर। अगर आप Off Page SEO के बारे में जानना चाहते हैं, तो आज के इस article में, मैं आपको बताउगा कि हम Off Page SEO Kya Hai तो यह article काफी ज्यादा interesting होने वाला है ।

तो यह लेख उन ब्लॉगर्स के लिए अच्छा है जिनको Off Page SEO के बारे में पता नहीं है और वह जानना चाहते हैं कि Off Page SEO Kya Hai और Off Page SEO Kaise Kare . अगर आपको अपने ब्लॉग या वेबसाइट को गूगल में रैंक करवा कर अच्छा खासा traffic लाना चाहते हैं तो आपको Off Page SEO करना ही होगा ।

Off-page SEO एक बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण कार्य है जोकि किसी भी वेबसाइट या ब्लॉग को गूगल के ऊपर के पेज में Rank करवाने में अहम भूमिका निभाता है यदि आप भी चाहते हैं कि मेरी वेबसाइट या ब्लॉग भी गूगल के ऊपर के दो या तीन Page पर रैंक करें तो आपको भी अपनी वेबसाइट का या अपनी वेबसाइट के सभी पेज का Off-page SEO करना होगा।

आज की इस लेख में हम Off-page SEO की सभी जानकारी देंगे जिसमें मैं आपको बताऊंगा कि Off Page SEO Kya Hai ओके और Off Page SEO Kaise Kare जिससे आपकी वेबसाइट गूगल के ऊपर के पेज में Rank करें जिससे आपकी वेबसाइट पर ज्यादा ट्राफिक आए तो आप इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ना

Off Page SEO Kya Hai (What is Off Page SEO in Hindi)

Off Page SEO में आपको आपकी वेबसाइट या ब्लॉग के अंदर से SEO नहीं करना पड़ता है बल्कि आपको आपकी वेबसाइट के बाहर से या अन्य किसी वेबसाइट से आपकी वेबसाइट के लिए लिंक जिसे हम बैकलिंक कहते हैं वह बनानी पड़ती है इस प्रक्रिया को Off Page SEO कहते हैं आमतौर पर हम यह भी बोल सकते हैं कि दूसरी वेबसाइट से बनाई गई बैंक लिंक को Off Page SEO कहते हैं ।

Off Page SEO मुख्यतः आपकी वेबसाइट की बैंक लिंक और उन बैकलिंक की क्वालिटी पर निर्भर करता है अगर आप Off Page SEO करते हैं तो आपकी वेबसाइट कि athority  भी बढ़ जाती है ।

अब आप यह तो जान ही गए होंगे कि बैकलिंक बनाने से आपकी वेबसाइट का Off Page SEO होता है तो अब मैं आपको बता देता हूं कि आप अपनी वेबसाइट के लिए बढ़िया बैक लिंक कैसे बना सकते हैं

  • सबसे पहले तो आप अपने ब्लॉग में इतना अच्छा कांटेक्ट लिखें ताकि जो भी आपके कांटेक्ट को पढ़ रहा है वह खुद आपको एक बैकलिंक देना चाहे तो यह आपकी वेबसाइट की नेचुरली बैंक लिंक होती है इससे आपकी वेबसाइट का Off Page SEO बहुत ही अच्छा होता है ।
  • दूसरा आप अपनी वेबसाइट के लिए जितने भी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है उन सभी पर अपनी वेबसाइट के नाम से प्रोफाइल बनाएं और अपनी वेबसाइट की लिंक ऐड करें इससे आपकी वेबसाइट को सोशल मीडिया वेबसाइट से भी Backlink मिलेगा और इससे आपकी वेबसाइट की Ranking बहुत ज्यादा बढ़ जाएगी ।
  • तीसरा अगर आप किसी भी गवर्नमेंट वेबसाइट से अपनी वेबसाइट के लिए बैकलिंक बना सकते हैं तो वह जरूर बनाएं क्योंकि गवर्नमेंट वेबसाइट की बैंक लिंक आपकी वेबसाइट के SEO के लिए बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण हो जाएगी इससे भी आपकी वेबसाइट की athority और रैंकिंग बहुत ज्यादा बढ़ जाती है ।

यह एक प्रकार से आपकी वेबसाइट के लिए Off Page SEO होता है और आप इन तरीकों से अपनी वेबसाइट के लिए Off Page SEO कर सकते हैं ।

Off Page SEO क्यों जरूरी है

Google Website की रैंकिंग के लिए दो सौ से अधिक factors का उपयोग करता है। एक factors के आधार पर रैंक करना मुश्किल है तो इसके लिए Off Page SEO करना बहुत ज्यादा जरूरी है। गूगल को यह भी बताना जरूरी होता है कि दूसरे आपके और आपकी साइट के बारे में क्या सोचते हैं, इसलिए आप बैंक लिंक बनाकर गूगल को यह बता सकते हैं कि मेरी वेबसाइट इतनी वेबसाइट से लिंक है। यही कारण है कि गुणवत्ता वेबसाइटों से लिंक प्राप्त करना महत्वपूर्ण है।

TECHNICAL vs ON-PAGE vs OFF-PAGE SEO में क्या अंतर है

On-Page SEO – ON-PAGE SEO आपके ब्लॉग में आपके द्वारा लिखे गए कांटेक्ट पर सबसे ज्यादा निर्भर करता है इसके अलावा आपके द्वारा दी गई अपने ब्लॉग की Heading, Meta Tags और मेटा डिस्क्रिप्शन पर भी निर्भर करता है इसके साथ ही अगर आपने अपने ब्लॉग में इंटरनल लिंक और इमेज को भी ऑप्टिमाइजेशन किया है तो यह भी आपके लिए बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण हो सकता है अगर आपको आपके पोस्ट को रैंक करवाना है तो ।

Off-Page SEOOff-Page SEO में सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण आपके द्वारा बनाई गई आपकी वेबसाइट या वेबसाइट के किसी एक पेज के लिए बैंक लिंक होती है इसके बाद यह आपकी कंटेंट मार्केटिंग पर भी डिपेंड करता है इसके साथ साथ अगर आपके कांटेक्ट का यूजर एक्सपीरियंस भी अच्छा होता है तो आपकी वेबसाइट का Off-Page SEO भी अच्छा हो जाता है ।

Technical SEOTechnical SEO मैं आपकी वेबसाइट की स्पीड,  साइटमैप और आपने कितनी लाइट वेट थीम यूज कर रखी है इस पर डिपेंड करता है यह सभी अच्छे होते हैं तो आपकी वेबसाइट का टेक्निकल SEO भी बहुत अच्छा हो जाता है ।

On-Page SEOOff-Page SEOTechnical SEO
ContentLink BuildingSite speed
Meta tagsContent MarketingWell-structured data
Heading optimizationSMMXML Sitemaps
Internal linkingBlog postingCanonicalization
Image optimizationCustomer reviewsHreflang tags
& more& more& more

ऑफ-पेज एसईओ के लिए सबसे अच्छा क्या है?

photo 3111.wide

Domain Authority

Domain Authority, जिसे हम शॉर्ट टर्म में DA कहते हैं, Moz कंपनी द्वारा बनाई गई एक मेट्रिक है जिसका उद्देश्य वेबसाइटों को 1-100 के अंदर रेटिंग देना है। DA SEO का एक बहुत ही महत्वपूर्ण कारक है जो वेबसाइट को दिखाता है कि यह सर्च इंजन पर कितनी अच्छी रैंक करता है।

तो आपकी वेबसाइट की Domain Authority जितनी ज्यादा होगी सर्च इंजन में उसकी रैंकिंग उतनी ही ज्यादा होगी और आपकी साइट को उतना ही ज्यादा ट्रैफिक मिलेगा।

अलग-अलग वेबसाइट का DA भी अलग-अलग होता है. जिस ब्लॉग ने अपना नया ब्लॉग शुरू किया है उसका DA कुछ तीन महीने बाद 10-20 के अंदर रहता है. जैसे-जैसे आपका डोमेन पुराना होता जाएगा, उसका DA बढ़ता जाएगा।

Site traffic – जब आप अपनी वेबसाइट के लिए फोरम बैक लिंक, ब्लॉकर्स बैंक लिंक इत्यादि जैसी ऑफ-पेज गतिविधियां करते समय आपको यह पता लगाना होगा कि ये साइट/लोग आपकी ओर कितना ट्रैफ़िक ला सकते हैं।

Link Type – बैंक लिंक बनाने या प्रचार गतिविधियों में शामिल दो मुख्य प्रकार के लिंक हैं।

Do-Follow Links – डू-फॉलो लिंक डिफ़ॉल्ट लिंक है जो Google बॉट्स को लिंक या वेबपेज पर वैल्यू पास करने की अनुमति देता है। Google डू-फॉलो लिंक्स की संख्या और उस समय आपको मिलने वाले अलग-अलग डोमेन की मात्रा को देखता है। कई और प्रासंगिक स्रोतों से जितने अधिक डू-फॉलो लिंक होंगे, उतना ही अधिक मूल्य आपकी वेबसाइट को दिया जाता है।

No-Follow Links – नो-फॉलो लिंक प्रकार का अर्थ है कि Google बॉट ऐसे लिंक का ध्यान नहीं करेंगे। वे उस पेज पर कोई ध्यान नहीं देंगे जहां से यह जुड़ा हुआ है। नो-फॉलो लिंक से आपकी रैंकिंग पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। Spam स्कोर को कम करने के लिए नो फॉलो बैक लिंक बनाए जाते हैं ।

Off Page SEO Kaise Kare

तो,  आपकी वेबसाइट की रैंकिंग के लिए ऑफ-पेज SEO का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा क्या है? तो आइए ऑफ एस एस यू कैसे करते हैं इसके बारे में जानते हैं और पता करें कि उन्हें अपनी वेबसाइट की मार्केटिंग में कैसे शामिल किया जाए।

photo 3123.wide

SOCIAL MEDIA MARKETING

सोशल मीडिया का SEO पर सीधा, तुरंत प्रभाव नहीं होता है, यहां लिंक देने का कोई फायदा नहीं है:  पर आपकी वेबसाइट का उल्लेख विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर जितना अधिक होगा, उतना ही आपकी वेबसाइट की मार्केटिंग ज्यादा होगी।

सोशल मीडिया SEO के साथ कैसे जुड़ा है?

सर्च इंजन सोशल मीडिया को एक मजबूत रैंकिंग Factor के रूप में नहीं देखते हैं, लेकिन फिर भी यह एसईओ को प्रभावित कर सकता है:

  • SOCIAL MEDIA MARKETINGआपकी ब्रांड प्रतिष्ठा और पहचान को बढ़ाता है।
  • SOCIAL MEDIA MARKETING आपकी स्थानीय SEO रैंकिंग को बढ़ावा देने में मदद करता है।
photo 3113.wide

BLOGGING

सबसे फायदेमंद ऑफ-पेज एसईओ गतिविधियों में से एक – गेस्ट पोस्ट – यह आपकी वेबसाइट के लिए काफी ज्यादा महत्वपूर्ण है अगर आप किसी अच्छी वेबसाइट से गेस्ट पोस्ट ले लेते हैं और उसके जरिए एक बैंक लिंक ले लेते हैं तो आपकी वेबसाइट की रैंकिंग कुछ ही दिनों में बहुत ज्यादा बढ़ सकती है।

जब भी आप किसी अन्य वेबसाइट या ब्लॉग पर एक लेखक के रूप में गेस्ट पोस्ट बना रहे होते हैं, तो साइट अक्सर आपको एक लिंक डालने की अनुमति देती है जो पोस्ट या लेखक बायो में आपकी अपनी साइट पर वापस जाती है। यह आपके ब्रांड जागरूकता प्रयासों के लिए एक अतिरिक्त बोनस बिंदु है क्योंकि आपका नाम और ब्रांड एक नए स्थान पर प्रदर्शित किया जा रहा है।

LINK BUILDING

यह आपकी वेबसाइट की डिजिटल प्रचार का सबसे सुना जाने वाला तरीका है, आने वाले वर्षों में, हम लिंक निर्माण में निम्नलिखित तरीके देख सकते हैं: किसी साइट से लिंक प्राप्त करना जितना कठिन होगा,  क्योंकि वह वेबसाइट आपसे पैसे भी ले सकते हैं उसके बदले में आपको एक बैकलिंक दे सकते हैं। 

आप को आपकी वेबसाइट के लिए बैकलिंक बनाने के लिए सही वेबसाइट का चयन करना होगा और उस वेबसाइट से किस जगह से आपको एक बैकलिंक लेनी होगी उस जगह का भी चयन करना होगा और हो सके तो आप  (.edu) और सरकार (.gov) वेबसाइटों के लिंक भी लें क्योंकि इन वेबसाइटों की Authority ज्यादा होती है इससे आपकी वेबसाइट की रैंकिंग और Authority दोनों जल्दी बढ़ जाएगी ।

ऑफ-पेज एसईओ के लिए लिंक के प्रकार

लिंक ऑफ-पेज एसईओ के सबसे महत्वपूर्ण तत्वों में से एक हैं। इससे पहले कि आप बैकलिंक्स का निर्माण करें, हालांकि, आपको विभिन्न प्रकार के लिंक्स की बेहतर समझ विकसित करनी चाहिए, साथ ही कई मानदंड जो आपकी वेबसाइट की लिंक इक्विटी को प्रभावित करते हैं। लिंक के तीन मुख्य प्रकार हैं:

Natural Links – आपकी वेबसाइट पर एक स्वाभाविक लिंक आता है, ठीक है, स्वाभाविक रूप से, जिसका अर्थ है कि आपकी टीम ने इसे अर्जित करने के लिए कुछ नहीं किया। जिस व्यक्ति ने अपनी वेबसाइट पर आपको लिंक दिया है, उसने बस आपकी साइट से लिंक करने का निर्णय लिया है, चाहे वे आपके ब्रांड का अनुसरण करते हों या गूगलके माध्यम से आपकी सामग्री की खोज करते हों। किसी भी तरह, उन्होंने आपकी सामग्री को मूल्यवान और प्रशंसा के लायक पाया।

Built Links – आउटरीच से आपकी वेबसाइट पर एक लिंक आता है। आपकी टीम ने इस लिंक को अर्जित करने के लिए काम किया, चाहे वेबमास्टर्स, प्रकाशकों, या पत्रकारों तक पहुंचकर या किसी विज्ञापन अभियान के साथ आपकी सामग्री का प्रचार करके। भले ही आपने यह लिंक बनाया हो, फिर भी आपने उपयोगकर्ताओं के लिए मूल्यवान सामग्री बनाई है, जिससे लोगों को आपके वेबसाइट को खोजने में मदद मिली है।

Created Links – आपकी टीम ने यह लिंक जानबूझ कर बनाया है लेकिन बिना किसी पहुंच के। इस ऑफ-पेज एसईओ रणनीति को ब्लैक-हैट एसईओ कहां जाता है, जो एसईओ की दुनिया में एक बड़ी संख्या है। लिंक बनाते समय, आपको प्राकृतिक या निर्मित लिंक पर ध्यान देना चाहिए।

बैकलिंक प्रोफाइल बनाना

सर्च इंजन न केवल लिंक की मात्रा और गुणवत्ता को ट्रैक करते हैं, बल्कि यह भी कि वे किस गति से दिखाई देते हैं। SERP में रैंकिंग की स्थिति में वृद्धि (और कमी नहीं) प्राप्त करने के लिए, दो बातों का ध्यान रखें: वह दर जिस पर लिंक की संख्या बढ़ती है और आपकी वेबसाइट की आयु। यहां कुछ सलाह हैं:

  • बैंक लिंक की वृद्धि महत्वपूर्ण है। लिंक की संख्या को धीरे-धीरे, थोड़ा-थोड़ा करके बढ़ाने की कोशिश करें। संख्या लिंक में तेज उछाल सामान्य रूप से ऑफ-पेज एसईओ को बहुत नुकसान पहुंचाएगा।
  • एक New वेबसाइट है? लिंक बिल्डिंग में जल्दबाजी न करें। सर्च इंजन New वेबसाइटों पर भरोसा नहीं करते हैं और अक्सर उन्हें निराश करते हैं, जिसका अर्थ है कि वे SERPs में अपनी स्थिति को डाउनग्रेड करते हैं। अपनी वेबसाइट के शुरू होने के तीन महीने बाद छोटे भागों में लिंक बनाना शुरू करें।

SOCIAL BOOKMARKING

सोशल बुकमार्किंग एक वेब पेज को स्टोर करने की प्रक्रिया है ताकि आप इसे किसी भी समय फिर से देख सकें। सोशल बुकमार्किंग टूल ब्राउज़र-आधारित बुकमार्क से भिन्न होते हैं क्योंकि उन्हें ऑनलाइन देखा जा सकता है और जिनके पास आपकी सामग्री तक पहुंच है, उनके साथ साझा किया जा सकता है। ऐसे टूल के सबसे प्रसिद्ध उदाहरणों में Pinterest, Twitter, Dribble, We Heart It, Reddit और कई अन्य शामिल हैं।

Social Bookmarking Benefits

सोशल बुकमार्किंग एक प्रभावी एसईओ रणनीति है जो आपकी ऑनलाइन उपस्थिति और वेब ट्रैफ़िक को बढ़ा सकती है। ऐसे:

  • जब भी आपकी सामग्री किसी बुकमार्क करने वाली वेबसाइट पर प्रदर्शित होती है, तो यह एक बैकलिंक बनाती है। वेब पेज की रैंकिंग के लिए बैकलिंक्स हमेशा एक प्रमुख मीट्रिक रहे हैं और रहे हैं।
  • बुकमार्क करने का सीधा प्रभाव रैंकिंग पर पड़ता है और इसलिए, यह आपके लिए ट्रैफ़िक बढ़ सकता है। जब आपकी कंपनी किसी बुकमार्क करने वाली साइट पर दिखाई देती है, तो लोगों द्वारा सीधे आपकी साइट के लिंक का अनुसरण करने की संभावना होती है। यदि जानकारी आकर्षक है, तो इससे हर महीने हजारों नए आगंतुक आ सकते हैं।
  • जब Google, Yahoo और अन्य यह निर्धारित करना चाहते हैं कि विचाराधीन साइट कितनी बड़ी और लोकप्रिय है, तो वे आपके सामाजिक संकेतों को देखेंगे। सामाजिक बुकमार्क को ऐसे कारकों में से एक माना जाता है।

Off Page SEO से संबंधित FAQs

Q.- Off Page SEO क्या होता है?

Blog या Website बनने या ब्लॉग पोस्ट करने के बाद ऑफ पेज SEO techniques के माध्यम से दूसरे वेबसाइट या ब्लॉग से back-link बनाने की बिधि को off page SEO कहते है। जो की search engine में रैंकिंग के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होता है इस बिधि से अपने ब्लॉग के domain authority बढ़ने में मदद मिलती है।

Q.- सबसे महत्वपूर्ण ऑफ पेज एसईओ गतिविधि क्या है?

बैकलिंक्स वर्तमान में सबसे महत्वपूर्ण ऑफ-पेज SEO फैक्टर है।

निष्कर्ष

उम्मीद है कि आपको हमारा यह लेख Off Page SEO Kya Hai अच्छा लगा होगा और अगर आपको हमारा यह लेख Off Page SEO Kaise Kare अच्छा लगा हो तो आप अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करना जो कि SEO के बारे में जानना चाहते हैं ।

अगर आपको इस लेख Off Page SEO Kya Hai से लेकर कोई प्रॉब्लम है या आपको इस लेख में अब भी कोई डाउट है तो आप हमारे लेख के नीचे कमेंट कर सकते हैं हम आपके कमेंट का रिप्लाई जरूर करेंगे और हमारे इस लेख को सही करने की पूरी कोशिश करेंगे ।

मेरा नाम Sandeep Jakhar है, मै B.A Part III का छात्र हूं। मैंनै यह Blog इसलिए बनाया है, ताकि मैं उन लौगौ की मदद कर सकु, जिन लोगों को Blogging, Computer, Carrer, इंटरनेट और पैसे कमाए से संबंधित जानकारी लेख की आवश्यकता है ।

Leave a Comment