DM kaise bane | डीएम कैसे बने पूरी जानकारी हिंदी में

5/5 - (1 vote)

जय हिंद, स्वागत है आपका हमारे इस BLOG के नये article पर। अगर आप DM बनना चाहते हैं, तो आज के इस article में, मैं आपको बताउगा कि हम DM Kaise Bane तो यह article काफी ज्यादा interesting होने वाला है ।

अगर मैं भारत की बात करूं तो भारत में प्रत्येक व्यक्ति आज एक सरकारी नौकरी चाहता है सरकारी नौकरी में भी ज्यादातर लोग यह चाहते हैं कि वे बड़े से बड़े पद पर नौकरी करें और ऐसे बहुत से लोग होते हैं जो यह चाहते हैं कि मैं एक DM बनू तो आज के इस लेख में मैं आपको बताऊंगा कि आप डीएम कैसे बने और उसके लिए आपको किस प्रकार की तैयारी और कोर्स करना आवश्यक है ।

DM एक बहुत ही ऊंचा पद होता है और आपको DM जैसे पद को प्राप्त करने के लिए बहुत ही ज्यादा मेहनत करनी होगी क्योंकि आपको भी पता है कि हमें किसी भी प्रकार की सफलता पाने के लिए बहुत ज्यादा मेहनत की आवश्यकता होती है और बिना मेहनत किए आज तक इस दुनिया में कोई भी व्यक्ति सफल भी नहीं हो पाया इसलिए आपको DM जैसा ऊंचा पद प्राप्त करने के लिए बहुत ज्यादा मेहनत करनी होगी ।

अगर आप भी DM बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको काफी तैयारी करनी होगी क्योंकि इसमें भी काफी कॉम्पिटीशन होता है इसके लिए आपको यह जानना होगा कि DM के लिए क्वालिफिकेशन क्या है, सिलेबस क्या है और क्या है इसका परीक्षा पैटर्न, इसलिए आज के इस लेख में मैं आपको यह सारी जानकारी देने जा रहा हूं।

Also Read –

साथ ही मैं आपको बताऊंगा कि आप DM की तैयारी कैसे करें और इसकी तैयारी करने के लिए बेस्ट स्टेप क्या है या इसकी क्या Tarike Hai जिनको अपनाकर आप एक DM बन सकते हैं ।

अब आपकी बहुत सारे सवाल होंगे कि हम DM Officer कैसे बने तो चलिए अब हम जान लेते हैं कि हम DM Officer Kaise Bane

सबसे पहले हम यह जान लेते हैं कि DM कौन होता है? और DM के क्या कार्य होते हैं? DM के लिए योग्यता, पढ़ाई, परीक्षा की तैयारी कैसे करे आदि। हमारे इस आर्टिकल को पूरा पढ़ने के बाद आपको DM कैसे बनते है? क्योंकि यह जानना बहुत ही ज्यादा जरूरी है-

DM कौन होता है?

भारत देश के सभी जिलों में एक ऐसा व्यक्ति होता है जिसे जिले का मुखिया बनाया जाता है और उसे सरकार के द्वारा हर तरीके के अधिकार दिए जाते हैं उस व्यक्ति को हम डीएम कहते हैं या आप यह भी कह सकते हैं कि वह व्यक्ति जो जिले का मुखिया होता है उसे हम DM कहते हैं ।

DM एक IAS अधिकारी ही होता है हमारे भारत देश में 748 जिले हैं उन सभी जिलों में एक DM को नियुक्त किया गया है वह डीएम उस जिले को सुचारू रूप से चलाता है ।

DM Full Form in Hindi

आपने DM का नाम तो बहुत बार सुना होगा पर क्या आप DM की फुल फॉर्म को जानते हैं और यह जानते हैं कि DM का पूरा मतलब क्या होता है,  मैं आपको यहां DM की फुल फॉर्म हिंदी और इंग्लिश दोनों में बता देता हूं-

DM Full Form in English – District Magistrate

DM Full Form in Hindi – जिला न्यायाधीश

DM के क्या कार्य होते हैं?

जैसा कि मैंने आपको पहले ही बता दिया है कि एक DM ऑफिसर एक बहुत ही हाई रैंक का होता है और यह बता देता हूं कि एक DM ऑफिसर के क्या कार्य होते हैं

  • एक डीएम किसी भी जिले का एक सर्वोच्च अधिकारी होता है ।
  • अपने जिले की सुरक्षा व्यवस्था और जिले की प्रशासनिक व्यवस्था बनाए रखने का जिम्मेदार भी एक डीएम ऑफिसर ही होता है ।
  • एक डीएम अधिकारी अपने जिले में कानून व्यवस्था, कृषि उत्पाद और व्यवसाय आदि कार्यों में सरकारी  योजनाओं को लागू करने का काम भी करता है
  • अपने जिले में आने वाली सरकारी स्कूल, सरकारी अस्पताल के  कार्य सुचारु रुप से चलें इसकी जिम्मेदारी भी एक डीएम ऑफिसर की ही होती है ।
  • एक DM ऑफिसर  के पास अपने क्षेत्र में महत्वपूर्ण निर्णय लेने के लिए  या कोई कार्य करने के लिए सभी प्रकार की शक्तियां होती है ।
  • एक DM ऑफिसर अपने अंदर आने वाले क्षेत्र में किसी भी प्रकार के विकास कार्य के लिए प्रस्ताव पास करवा सकता है ।
  • एक DM अधिकारी के पास 1 जिले के सभी विभागों का ध्यान रखने और उनके कार्य को सही प्रकार से करवाने की भी जिम्मेदारी होती है ।
  • एक DM अधिकारी एक पूरे जिले की सभी प्रकार की पुलिस व्यवस्था और जिले में शांति व्यवस्था बनाए रखने की जिम्मेदारी भी निभाता है ।

एक आईएएस अधिकारी एक डिस्ट्रिक्ट का कलेक्टर भी हो सकता है अब आप डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर के नाम से अंदाजा लगा सकते हैं एक आईएएस अधिकारी के क्या कार्य हो सकते हैं और उसके पास क्या पावर हो सकती है ।

DM Kaise Bane

अब मैं आपको बता देता हूं कि एक DM ऑफिसर कैसे बने एक DM ऑफिसर बनने के लिए आपको नीचे दी गई सभी Steps को फॉलो करना होगा –

जैसा कि मैंने आपको ऊपर बता दिया है कि एक IAS अधिकारी ही एक DM होता है ।

डीएम बनने के लिए आपको IAS ऑफिसर बनना होगा IAS ऑफिसर बनने के लिए आपको UPSC की परीक्षा को पास करनी होगी और उस परीक्षा में भी आपको शीर्ष 100 की रैंकिंग हासिल करनी होगी जब आप UPSC की एग्जाम  को पास कर लेते हैं और शीर्ष 100 की रैंकिंग में आ जाते हैं तो आपको IAS अधिकारी बना दिया जाता है IAS अधिकारी की दो या दो से अधिक प्रमोशन होने के बाद उसे जिला मजिस्ट्रेट यानी DM बना दिया जाता है इस प्रकार आप एक DM बन सकते हैं ।

अगर आप यूपीएससी की सिविल सर्विस एग्जाम CSE में पास होते हैं तो उस एग्जाम की रैंक के आधार पर आप अलग-अलग विभागों में अधिकारी बनते हैं जैसे अगर आप की रैंक सबसे ऊपर होती है तो आपको एक IAS अधिकारी बना दिया जाता है आईएएस अधिकारी में आपको जिला कलेक्टर या आपको मंत्रालय का सचिव भी बनाया जा सकता है ।

यूपीएससी की एग्जाम पास करने के बाद आप कि अगर इसमें अंक ज्यादा आते हैं तो आपको एक IAS अधिकारी बना दिया जाता है उससे कम अंक आते हैं तो आपको एक IPS अधिकारी जिसमें पुलिस विभाग के उच्च पद मिलते हैं, उससे कम अंक आते हैं तो आपको IRS अधिकारी जिसमें टैक्स या वित्तीय विभाग से जुड़े उच्च पद मिलते हैं और अगर उससे भी नीचे अंक पाते हैं तो आपको एक IFS अधिकारी बना दिया जाता है जिसमें आपको एक राजदूत की नौकरी मिलती है ।

अब अगर आपको एक DM ऑफिसर बनना है तो इसके लिए आपको UPSC की एग्जाम पास कर के एक IAS अधिकारी बनना होगा और IAS अधिकारी बनने के लिए आपको नीचे दी गई Steps को फॉलो करना होगा तो आप नीचे दिए गया आर्टिकल ध्यान से पढ़ें

Step 1. Class 10th पास करें

DM बनने के लिए सबसे पहले आपको Class 10 अच्छे अंकों के साथ पास करना होगा Class 10 में आपके अच्छे अंक आने जरूरी नहीं है पर अगर आप Class 10 में अच्छे अंकों के साथ पास होंगे तो आपको ज्यादा नॉलेज होगा और आपका वह नॉलेज आपकी Class 12 और कॉलेज में ज्यादा काम आएगा इसलिए आपको Class 10 में अच्छे अंकों के साथ पास होना जरूरी है ।

Step 2. Class 12th पास करें

क्लास 10 में अच्छे अंकों के साथ पास होने के बाद आपको क्लास 11 और 12 में भी किसी भी सब्जेक्ट के साथ चाहे साइंस, कॉमर्स या आर्ट किसी भी सब्जेक्ट से आप क्लास 12 को पास कर सकते हैं इसके साथ ही आपको क्लास 11 व 12 में भी अच्छे अंको से पास होना होगा ।

ताकि आपको ज्यादा से ज्यादा नॉलेज मिल सके और उस नॉलेज से आप अपनी IAS की तैयारी और कॉलेज में अच्छे मार्क्स से पास होने मैं आपको मदद मिल सके, एक IAS अधिकारी बनने के लिए क्लास 11 व 12 में न्यूनतम Marks की कोई सीमा नहीं रखी गई है पर आप अच्छे अंकों के साथ क्लास 11 व 12 में पास होंगे तो आपको ज्यादा नॉलेज होगा ।

Step 3. ग्रेजुएशन कंप्लीट करें

क्लास 12 पास करने के बाद आपको किसी भी सब्जेक्ट से किसी मान्यता प्राप्त कॉलेज या यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन की डिग्री कंप्लीट करनी होगी क्योंकि UPSC की एग्जाम देने के लिए आपके पास ग्रेजुएशन की डिग्री होनी जरूरी है क्योंकि UPSC एग्जाम वही स्टूडेंट दे सकता है जिसके पास ग्रेजुएशन की डिग्री है ग्रेजुएशन आप किसी भी सब्जेक्ट से कर सकते हैं  ।

और ग्रेजुएशन आपको अच्छे अंकों के साथ करनी होगी क्योंकि जब आप UPSC की एग्जाम देंगे तो उसमें क्लास 10th, 12th और कॉलेज से रिलेटेड ही Questions पूछे जाते हैं तो अगर आप इन सभी परीक्षाओं में अच्छे अंकों के साथ पास होंगे तो आप यूपीएससी की तैयारी आसानी से कर सकते हैं ।

Step 4. UPSC की एग्जाम के लिए फॉर्म फिल करें

ग्रेजुएशन कंप्लीट करने के बाद आपको अगर UPSC कि एक्जाम देनी है तो आपको सबसे पहले UPSC का फॉर्म फिल करना होगा क्योंकि आप UPSC की एग्जाम को पास करने के बाद ही DM बन सकते हैं तो इसके लिए सबसे पहले आपको यूपीएससी का फॉर्म फिल करना होगा

अब बात आती है कि हम UPSC की एग्जाम का फॉर्म फिल कैसे करें तो आप UPSC की एग्जाम का फॉर्म अपने नजदीकी मित्र या आप ऑनलाइन अपने लैपटॉप या कंप्यूटर के माध्यम से भी कर सकते हैं अगर आप ऑनलाइन अपने लैपटॉप या कंप्यूटर के माध्यम से फॉर्म फिल करना चाहते हैं तो आप यूपीएससी की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर वहां पर अप्लाई ऑनलाइन के बटन पर क्लिक करके यूपीएससी का फॉर्म फिल कर सकते हैं ।

जब आप यूपीएससी की एग्जाम का फॉर्म फिल कर देते हैं तो उसके कुछ समय के पश्चात आपकी यूपीएससी की एग्जाम होती है  अब आपको यह पता नहीं होता है कि यूपीएससी में आईएएस की एग्जाम के कितने पेपर होते हैं और यूपीएससी की एग्जाम किस पैटर्न पर लगती है तो इसकी जानकारी भी मैं आपको नीचे दे रहा हूं ताकि आपको यूपीएससी में DM की एग्जाम देने में कोई दिक्कत ना हो

यूपीएससी में DM के एग्जाम का फॉर्म फिल करने के बाद आपकी 3 पेपर होते हैं इनकी मैं जानकारी आपको नीचे स्टेप बाय स्टेप दे रहा हूं

  1. प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Examination)
  2. मुख्य परीक्षा (Main Examination)
  3. साक्षात्कार (Interview)

Step 5. प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Examination) पास करें

UPSC के जरिए IAS का फॉर्म फिल करने के बाद सबसे पहले उम्मीदवारों की प्रारंभिक परीक्षा होती है जिसे सामान्य हम यूपीएससी प्री एग्जाम कहते हैं DM बनने के लिए इस परीक्षा को पास करना जरूरी होता है इस परीक्षा में दो पेपर होते हैं और यह पेपर एक ही दिन में होते हैं इस परीक्षा में बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाते हैं प्रत्येक पेपर को हल करने के लिए 2 घंटे का समय दिया जाता है ।

प्रत्येक पेपर 200 अंकों के होते हैं प्रारंभिक परीक्षा के पहले पेपर में प्रश्नों की संख्या 100 होती है और दूसरे पेपर में प्रश्नों की संख्या 80 होती है प्रत्येक सही प्रश्न के 2 अंक मिलते हैं और इस परीक्षा में गलत प्रश्नों के लिए नकारात्मक अंक भी होते हैं प्रत्येक गलत प्रश्न के .33 अंक काटे जाते हैं यूपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा हिंदी और अंग्रेजी दोनों विषयों में होती है इस प्रकार से यूपीएससी का प्रारंभिक परीक्षा होती है ।

Step 6. मुख्य परीक्षा (Main Exam) पास करें

पहला पेपर पास करने के बाद आपका दूसरा पेपर होता है जिसका नाम है मुख्य एग्जाम DM बनने के लिए आपको इस एग्जाम को भी क्लियर करना होगा इस परीक्षा का पेपर भी पहले पेपर की तरह है बहुत ज्यादा कठिन होता है ।

इस परीक्षा के तहत 9 पेपर से प्रश्न पूछे जाते हैं जो लगभग 5 से 7 दिनों तक चलते हैं जिन उम्मीदवारों को सामान्य अध्ययन में कटऑफ मिलता है और सामान्य अध्ययन में 33% प्राप्त होता है, उसी तरह उम्मीदवार को मुख्य परीक्षा में बैठने का मौका दिया जाता है।

इस परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्न वर्णनात्मक होते हैं इसके तहत पूछे जाने वाले विषय पेपर ए और पेपर बी भाषा के पेपर हैं।
वैकल्पिक 1 और वैकल्पिक 2 के अंतर्गत कई प्रकार के विषय हैं, जिनमें से अब आप अपने पेपर के रूप में किसी एक को चुन सकते हैं।

यहां हम आपको सिविल इंजीनियरिंग, भूविज्ञान, इतिहास, अर्थशास्त्र आदि जैसे कुछ उदाहरण दे रहे हैं। यहां भाषा के एक को छोड़कर सभी पेपर अंग्रेजी में लिखे जाने हैं।

क्र०सं०प्रश्न पत्रअंक
1.(प्रश्नपत्र –I) सामान्य अध्ययन250
2.(प्रश्नपत्र –2) सामान्य अध्ययन250
3.(प्रश्नपत्र –3) सामान्य अध्ययन250
4.(प्रश्नपत्र –4) सामान्य अध्ययन250
5.(प्रश्नपत्र –5) वैकल्पिक विषय250
6.(प्रश्नपत्र –6) वैकल्पिक विषय250
7.निबंध लेखन250
8.अंग्रेज़ी (अनिवार्य)300
9.हिंदी भाषा (अनिवार्य)300

Step 7. इंटरव्यू (Interview)

इन दोनों परीक्षाओं को पास करने के बाद अंत में UPSC के द्वारा आप को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है आपको इस अंतिम चरण में इंटरव्यू देना पड़ता है इस इंटरव्यू में विद्यार्थी से किसी भी प्रकार के प्रश्न पूछे जाते हैं यह प्रश्न इस प्रकार से पूछे जाते हैं कि इसमें विद्यार्थी का दिमाग चेक किया जाता है और यह कंफर्म किया जाता है कि यह व्यक्ति यूपीएससी के लायक है या नहीं अगर आप इंटरव्यू में पास हो जाते हैं तो फिर आप IAS की ट्रेनिंग के लिए भेज दिए जाते हैं ।

Step 8. IAS की ट्रेनिंग

UPSC के द्वारा ली गई सभी परीक्षाओं में पास होने के बाद UPSC के द्वारा अंत में मेरिट लिस्ट निकाली जाती है उस मेरिट लिस्ट में जिस उम्मीदवार के सबसे ज्यादा अंक होते हैं उस उम्मीदवार को IAS अधिकारी बना दिया जाता है और जिस अधिकारी के कम होते हैं उन्हें IPS और IFS अधिकारी बना दिया जाता है UPSC की परीक्षा में आए गए अंकों के आधार पर उम्मीदवारों को IAS, IPS और IFS बनाया जाता है।

PRE, MAIN और इंटरव्यू क्लियर करने के बाद उम्मीदवार को ट्रेनिंग के लिए लबसना (LBSNAA) भेजा जाता है LBSNAA मैं उन सभी उम्मीदवारों को 2 साल की ट्रेनिंग दी जाती है।

इन सभी स्टैप्रों को फॉलो करके और यूपीएससी की परीक्षा की अच्छी प्रकार से तैयारी करके आप एक आईएएस अधिकारी बन सकते हैं ।

आपके मन में यह सवाल होगा कि यूपीएससी क्या होती है हम यूपीएससी की तैयारी कैसे करें और यूपीएससी का फार्म कैसे भरें तो आपको मैं यह बता देता हूं कि UPSC क्या है? आपके मन में यह भी सवाल होगा कि UPSC क्या होता है? और यूपीएससी की परीक्षा इतनी कठिन क्यों होती है तो सबसे पहले हम यह जान लेते हैं कि UPSC क्या है? ताकि आपको भी समझ में आ जाए कि यह यूपीएससी चीज क्या है और हम UPSC की परीक्षा को कैसे क्लियर कर सकते हैं?

UPSC क्या है?

UPSC की फुल फॉर्म होती है यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन और इसे हम हिंदी में संघ लोक सेवा आयोग के नाम से भी जानते हैं यूपीएससी एक ऐसी संस्था है जो राष्ट्रीय स्तर पर जो भी एग्जाम होते हैं उन्हें आयोजित करवाती है । यह भारत की सिविल सेवाओं के लगभग 24 पदों पर परीक्षा आयोजित करवाती है, देश में लाखों ऐसे विद्यार्थी हैं जो कि UPSC की परीक्षा की तैयारी करते हैं ।  UPSC की परीक्षा को पास करने के बाद आप भारतीय पुलिस सर्विस IPS , भारतीय प्रशासन सेवा IAS और जिला कलेक्टर जैसे उच्च पदों पर नौकरी कर सकते हैं ।

हर वर्ष अलग-अलग पदों पर UPSC अपनी एंट्रेंस एग्जाम का आयोजन करवाती है इस एग्जाम को क्लियर करने के बाद विद्यार्थी आगे के पद पर चयनित होता है,  और एग्जाम को क्लियर करने के बाद उस विद्यार्थी का बाद में इंटरव्यू लिया जाता है और इंटरव्यू को पास करने के बाद वह विद्यार्थी UPSC की एग्जाम में पास हो जाता है ।

UPSC के अंतर्गत जितने भी एक्जाम होते हैं उनमें बहुत ज्यादा कंपटीशन होता है यानी कि उन एग्जाम को क्लियर करना इतना आसान नहीं है यह मैंने आपको पहले भी बता दिया है क्योंकि एग्जाम की तैयारी करने वाले विद्यार्थी बहुत ज्यादा होते हैं और इनकी पोस्ट बहुत कम होते हैं इसका मेन कारण तो यही है ।

अगर आपको IAS बनाना है तो भी आपको UPSC की एग्जाम को क्लियर करनी होगी इसके लिए सबसे पहले आपको UPSC के फॉर्म को फिल करना होगा फिर आपको इसकी 2 एग्जाम पहले PRE और दूसरी MAIN होती है मैं इसे Clear करना होता है फिर आपका इंटरव्यू होता है उसके बाद ही आप IAS बन सकते हैं ।

DM बनने की एलिजिबिलिटी

DM बनने के लिए आप में यह सभी एलिजिबिलिटी होनी चाहिए अन्यथा आप DM नहीं बन पाएंगे-

DM बनने के लिए आपके पास सबसे पहली और महत्वपूर्ण एलिजिबिलिटी यह है कि आपकी क्वालिफिकेशन क्या है

सरकार ने DM बनने के लिए परीक्षार्थी के लिए कुछ योग्यताएं बताई गई है वह योग्यता उस अभ्यर्थी में होनी ही चाहिए अब मैं आपको वह योग्यता वन बाई वन करके बता देता

अब आपको यह तो पता चल ही गया होगा कि यह DM ऑफिसर UPSC की परीक्षा को पास करके ही बन सकता है अब मैं आपको बता देता हूं कि UPSC की परीक्षा देने के लिए आप की क्या क्वालिफिकेशन होनी जरूरी है

Qualification

UPSC की परीक्षा वही विद्यार्थी दे सकता है जिसके पास किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन की डिग्री हो और ग्रेजुएट की डिग्री में उसे 50% अंक होने आवश्यक है अगर आपने किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन 50% अंकों के साथ नहीं की है तो आप UPSC का फॉर्म फिल नहीं कर सकते हैं और इसकी परीक्षा में भाग नहीं ले सकते हैं ।

दूसरा भारत के मूलनिवासी ही UPSC की एग्जाम दे सकते हैं या इसका फॉर्म फिल कर सकते हैं ।

DM बनने की आयु सीमा

सरकार द्वारा DM बनने के लिए आयु सीमा का निर्धारण कर रखा है अगर आप इस आयु सीमा से कम है या आप इस आयु सीमा से अधिक हैं तो आप पुलिस UPSC का फॉर्म फील नहीं कर सकते हैं और इसकी परीक्षा में भाग नहीं ले सकते हैं DM बनने के लिए क्या आयु सीमा है इसकी जानकारी मैं नीचे विस्तार में बता रहा हूं इसे आप ध्यान से पढ़ें-

  • IAS की परीक्षा में भाग लेने के लिए कैंडिडेट की न्यूनतम आयु 21 वर्ष और अधिकतम आयु 30 वर्ष घोषित की गई है ।

SC/ST Candidate Age Limit – SC/ST के अंतर्गत आने वाले प्रत्येक उम्मीदवार की आयु सीमा को बढ़ाकर 5 वर्ष ज्यादा किया गया है यानी SC/ST के अंतर्गत आने वाले कैंडिडेट की उम्र 21 वर्ष से लेकर 35 वर्ष तक है ।

OBC Candidate Age Limit – ओबीसी श्रेणी के अंतर्गत आने वाले प्रत्येक उम्मीदवार की आयु सीमा को बढ़ाकर 3 वर्ष किया गया है यानी ओबीसी वर्ग से जो भी उम्मीदवार हैं उनकी आयु सीमा 21 वर्ष से लेकर 33 वर्ष तक है ।

जो भी उम्मीदवार UPSC की परीक्षा देना चाहते हैं वह भारत के नागरिक होने अनिवार्य है ।

DM की तैयारी कैसे करे

अगर आपको DM बनना है तो आपको उसके लिए पूरी लगन से मेहनत करनी होगी तब ही जाकर आप DM की एग्जाम को क्लियर कर सकते हैं मैंने कई सारे ऐसे विद्यार्थी भी देखे हैं जो कि बहुत ज्यादा मेहनत करते हैं पर वे परीक्षा में फेल हो जाते हैं तो उन विद्यार्थियों को डिमोटिवेट नहीं होना चाहिए और फिर से उन्हें DM की परीक्षा की तैयारी करनी चाहिए क्योंकि अगर आप बार-बार परीक्षा देंगे तो आप DM परीक्षा को क्लियर कर ही लेंगे ।

कभी-कभी ऐसा भी होता है कि तैयारी करने वाले विद्यार्थियों को सही गाइड नहीं मिल पाती है और उन्हें सही कोर्स के बारे में भी पता नहीं होता है तो इस लेख में मैंने कोर्स के बारे में तो पहले ही बता दिया है अब मैं कुछ आपको गाइड बता रहा हूं जिनको फॉलो करके आप DM की तैयारी कर सकते हैं।

अच्छी खासी मेहनत करके आप DM की एग्जाम को क्लियर कर सकते हैं अब मैं यहां आपको नीचे DM की तैयारी कैसे करें के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें बता रहा हूं तो आप इन को जरूर जरूर ध्यान से पढ़ना क्योंकि यह DM की तैयारी करने वाले विद्यार्थियों के लिए बहुत ही लाभकारी साबित हो सकते हैं।

  • परीक्षा को क्लियर करने के लिए आपको आपका लक्ष्य बनाना होगा कि मुझे DM बनना ही है और आपको निरंतर इस पर फोकस करके मेहनत करनी होगी
  • आपको DM के एग्जाम पैटर्न और उसके सिलेबस के आधार पर ही DM की परीक्षा की तैयारी करनी होगी ताकि आप सही दिशा में और सही कोर्स पर मेहनत कर सकें ताकि आपको इसकी सफलता जल्दी मिल जाए
  • किसी भी प्रकार के एग्जाम को क्लियर करने के लिए आपको उस एग्जाम की निरंतर तैयारी करनी होती है वह भी टाइम टेबल के साथ तो आपको UPSC की परीक्षा की तैयारी भी टाइम टेबल के साथ दिन में कम से कम 10 से 12 घंटे करनी होगी
  • जिस भी विषय में आप थोड़ा कमजोर है उस विषय पर आपको ज्यादा ध्यान देना होगा और उस विषय को आपको ज्यादा टाइम देने की जरूरत है
  • DM बनने के लिए आपको सही कोर्स खरीदने की जरूरत है
  • DM बनने के लिए आपको सही टीचर और सही कोचिंग सेंटर की आवश्यकता होगी जो आपको DM की एग्जाम की तैयारी अच्छी करवा सकें और अच्छा गाइडेंस  दे सके
  • DM बनने के लिए आपको सब इंस्पेक्टर के पिछले 2 दिन या 5 साल के पेपर को हल करना चाहिए और उन्हें बारीकी से पढ़ना चाहिए
  • परीक्षा के साथ-साथ सबसे जरूरी यह भी है कि आप एग्जाम की तैयारी के साथ साथ आप अपने स्वास्थ्य का भी ध्यान रखें ताकि अगर आप एग्जाम को क्लियर कर भी लेते हैं तो आपको फिजिकल टेस्ट में कोई दिक्कत ना हो
  • यूपीएससी की एग्जाम को पास करने के लिए आप ऐसे कोचिंग को ज्वाइन करें जो यूपीएससी की एग्जाम की अच्छी तैयारी करवाएं और उसे लगभग 10 से 15 साल का एक्सपीरियंस हो
  • DM और यूपीएससी की एग्जाम क्लियर करने के लिए आपकी इंग्लिश अच्छी होना बहुत जरूरी है इसके साथ-साथ आप इंग्लिश और हिंदी के अखबार भी अवश्य पढ़ें

इन सभी बातों का ध्यान रखकर वह अपनी तैयारी को अच्छे से करके आप आसानी से UPSC की पेपर को क्लियर कर सकते हैं और DM बन सकते हैं ।

DM की सैलरी कितनी होती है

सबसे महत्वपूर्ण चीज यही होती है कि हम जो काम करते हैं उनके बदले में हमें कितना पैसा मिलता है तो मैं आपको बताता हूं कि DM की सैलेरी कितनी होती है?

एक DM को लगभग 56100 से 250000 रुपये प्रतिमाह का वेतन प्रदान किया जाता है |

₹56000 से लेकर ₹250000 प्रति माह

DM अधिकारी को प्रदान की जाने वाली सुविधाएं

  • सरकार द्वारा एक DM ऑफिसर को जब तक वह जॉब करता है तब तक उसे एक बंगला दिया जाता है वह भी निशुल्क फैसिलिटी के साथ
  • सरकार के द्वारा एक DM अधिकारी को उसकी सुरक्षा के लिए एक सिक्योरिटी गार्ड भी दिया जाता है ।
  • सरकार के द्वारा DM ऑफिसर को एक घरेलू नौकर भी दिया जाता है ।
  • एक DM ऑफिसर को सरकार की तरफ से एक वाहन भी दिया जाता है और उस वाहन को चलाने के लिए एक ड्राइवर भी दिया जाता है और उस ड्राइवर को तनख्वाह सरकार देती है ।
  • सरकार के द्वारा DM ऑफिसर को में बिजली, पानी और टेलीफोन की सुविधा भी दी जाती है, इन सभी का बिल सरकार ही भर्ती है।
  • रिटायरमेंट होने के बाद एक DM ऑफिसर को पेंशन की सुविधा भी मिलती है जो कि उसकी लाइफ टाइम तक सरकार उसे देती है ।

यह सभी सुरक्षा और सुविधाएं एक DM अधिकारी को सरकार के द्वारा दी जाती है ।

DM Kaise Bane Video

DM बनने के लिए अक्सर पूछे जाने वाले सवाल (FAQs)

Q.- डीएम की परीक्षा कैसे होती है?

DM (District Magistrate) बनने के लिए उम्मीदवार को UPSC द्वारा आयोजित CSE (सिविल सर्विस एग्जाम) परीक्षा को पास करना होता है। इसके बाद आपका IAS के लिए चयन किया जाता है। इसके बाद आप IAS अधिकारी बनते है। तथा पदोन्नति होने पर IAS अधिकारी को जिला न्यायाधीश अथवा डीएम (जिलाधिकारी) बनाया जाता है।

Q.- डीएम बनने के लिए क्या योग्यता चाहिए?

डीएम बनने के लिए उम्मीदवार को यूपीएससी के तहत होने वाली सिविल सेवा परीक्षा (Civil Service Exam) पास करनी होती है. इसके बाद आप आईएएस ऑफिसर (IAS Officer) बन सकते हैं. फिर प्रमोशन के साथ डीएम (DM Kaise Bane) बनने की राह आसान हो जाती है. डीएम बनने के लिए कैंडिडेट का ग्रेजुएशन पास होना जरूरी है

Q.- डीएम का वेतन कितना होता है?

डीएम की सैलरी 1 लाख से 1.5 लाख रुपए प्रति महीने होती है। इसके अलावा इन्‍हें बंगला, गाड़ी, सुरक्षा गार्ड, मेडिकल, फोन आदि की सुविधा भी मिलती है। सब डिविजनल मजिस्ट्रेट (Sub Divisional Magistrate) अपने डिवीजन का प्रमुख मजिस्ट्रेट होता है।

Q.- डीएम से बड़ा अधिकारी कौन होता है?

किसी भी ज़‍िले में राजस्‍व प्रबंधन से जुड़ा सबसे बड़ा अधिकारी डिस्ट्रिक्‍ट कलेक्‍टर ही होता है. राजस्‍व के मामलों में डिविजनल कमीश्‍नर और फाइनेंशियल कमीश्‍नर के जरिए सरकार के प्रति सभी जिम्‍मेदारी डिस्ट्रिक्‍ट कलेक्‍टर की ही होती है.

निष्कर्ष

इस प्रकार से आप तैयारी करके DM बन सकते हैं अगर आपको DM Kaise Bane लेख अच्छा लगा हो तो आप अपने दोस्तों के साथ भी इसे शेयर करना जो DM बनना चाहते हैं और इस लेख से संबंधित अगर आपको कोई और ज्यादा जानकारी चाहिए तो आप ले के नीचे कमेंट कर सकते हैं हम आपके सवालों का जवाब देने की कोशिश जरूर करेंगे ।

उम्मीद करता हूं कि आपको यह लेख DM Kaise Bane काफी ज्यादा पसंद आया होगा और अगर आपको यह लेख पसंद आया है तो आप हमारे सोशल मीडिया अकाउंट जैसे- फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर और टेलीग्राम पर हमें फॉलो भी कर सकते हैं ।

मेरा नाम Sandeep Jakhar है, मै B.A Part III का छात्र हूं। मैंनै यह Blog इसलिए बनाया है, ताकि मैं उन लौगौ की मदद कर सकु, जिन लोगों को Blogging, Computer, Carrer, इंटरनेट और पैसे कमाए से संबंधित जानकारी लेख की आवश्यकता है ।

Leave a Comment